cryptocurrency kya hai | cryptocurrency in hindi 2022

इस तेजी से आंगे बढ़ते digital world मे एक currency ने digital रूप मे जन्म ले लिया है और digital currency को ही cryptocurrency के नाम से जाना जाता है जेसे की BitcoinBTC, यह एक digital currency है और आपने इस नाम को बहुत बार सुना होगा तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेगे की डिजिटल cryptocurrency kya hai और इसका उपयोग केसे किया जाता है और इसे हम केसे खरीद सकते है और यह कितनी सस्ती या कितनी महंगी होती है और इस आर्टिकल मे जानेगे कि crptocurrency कितने प्रकार की होती है और crptocurrency BitcoinBTC को इंडिया मे ban किया गया है या नहीं cryptocurrency kya hai इसकी सम्पूर्ण जानकारी पढे ..

Table of Contents

cryptocurrency kya hai

cryptocurrency एक वर्चुअल currency होती है जिसे सन 2009 मे intoduce किया गया था और पहली crptocurrency most BitcoinBTC currency ही थी और इस crptocurrency का कोई आकार नहीं होता है और यह न तो नोट या coin जेसी दिखने मे नहीं होती है यह केवल online ही इसको हम देख सकते है और इसे हम अपनी जेब मे भी नहीं रख सके है लेकिन यह हमारे digital वॉलेट मे इसे सेव रख सकते है क्योंकि यह केवल अनलाइन पेटफॉर्म पर कार्य करती है और इसका भुगतान भी अनलाइन माध्यम से किया जाता है और इसे अनलाइन माध्यम से ही खरीदा जा सकता है दोस्तों हम जानते है की $, euro भारतीय पेसा , real पर जेसे currency पर उस देश की goverment का control होता है किन्तु इस वर्चुअल cryptocurrency पर किसी भी देश की गवर्नमेंट का निरंतरण नहीं होता है यानि bitcoin currency tradtional banking सिस्टम को फॉलो नहीं करती है यानि इस crptocurrency को एक वॉलेट से दूसरे वॉलेट के माध्यम से इस currency को transfer किया जाता है दोस्तों cryptocurrency bitcoin currency केवल यह एक अकेली currency नहीं है इस दुनियाँ मे एसी बहुत cryptocurrency है जेसे BitcoinBTC ,EthereumETH,TetherUSDT,USD CoinUSDC,BNB BNB, एसी बहुत सी है पर इन सब मे से केवल BitcoinBTC currency ही है जो सबसे महंगी currency है जिसे हम खरीद सकते है औरे इसमे trade के माध्यम से ट्रैडिंग भी कर सकते है महेत्वपूर्ण जानकारी और भी पढ़ें trading kaise kare

Cryptocurrency list with price

हम आपको यहां पर cryptocurrency के बारे मे और अधिक जानकारी को सांझा कर रहे है जिससे आपको मालूम हो सके की कौन से cryptocurrency का price कितना है अभी और इसका marketcaptical कितना है इसे हम एक टेबल के माध्यम से जानेगे महेत्वपूर्ण जानकारी और भी पढ़ें free demat demat account खोले

cryptocurrency market capitalization (2022)
BitcoinBTC$361.3 B
EthereumETH$164.2 B
TetherUSDT$67.93 B
USD CoinUSDc $50.17 B
BNB BNB$43.01 B
Binance USD$20.5 B
XRP$20.15 B
Cardano ADA$15.12 B
Solana$11.22 B
Dogecoin$7.78 B
Polkadot$7 B
Dai DAI$6.88 B
Polygon MATIC$6.47 B
Wrapped TRON WTRX$6.07 B
Shiba Inu SHIB$5.87 B
TRON TRX$5.51 B
HEX$5.28 B
Avalanche
AVAX
$4.95 B
Wrapped Bitcoin
WBTC
$4.7 B
Lido stETH
stETH
$4.64 B
UNUS SED LEO
LEO
$4.46 B
Uniswap
UNI
$4.07 B
Cosmos
ATOM
$4.04 B
Ethereum Classic
ETC
$4.01 B
Litecoin
LTC
$3.69 B
Chainlink
LINK
$3.4 B
FTX Token
FTT
$3.14 B
NEAR Protocol
NEAR
$3.05 B
Stellar
XLM
$2.97 B
Cronos
CRO
$2.62 B
Monero
XMR
$2.58 B
Algorand
ALGO
$2.28 B
Bitcoin Cash
BCH
$2.15 B
Bitcoin BEP2
BTCB
$1.99 B
Luna Classic
LUNC
$1.79 B
Flow
FLOW
$1.75 B
ApeCoin
APE
$1.73 B
Toncoin
TON
$1.7 B
VeChain
VET
$1.64 B
यहाँ पर आप कुछ एसी currency की लिस्ट दी गई है जिसमे उनके  market capitalization के बारे मे बताया गया है

क्रिप्टो करेंसी के प्रकार (Types Of Crypto Currency)

वर्तमान समय में लगभग 5 हजार से अधिक क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में उपलब्ध हैं, परन्तु इनमें से कुछ क्रिप्टो करेंसी ऐसी है, जिनका उपयोग सबसे अधिक किया जा रहा है, और आप टेबल मे कुछ महत्वपूर्ण इनके नाम इस प्रकार है-

बिटकॉइन Bitcoin BTC

बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी क्रिप्टोकरेंसी है, मुख्य रूप से इसका उपयोग बड़े-बड़े सौदो में किया जाता है| बिटकॉइन एक वर्चुअल करेंसी है। यह एक ऐसी करेंसी है जिसे कोई नहीं देख सकता यह वर्चुअल रूप में पाई जाती है।इसे इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में सिक्योर करके रखते हैं। पिछले कुछ वर्षों में इसका चलन काफी बढ़ गया है। आप इसे किसी अन्य करेंसी की तरह खरीद सकते हैं जैसे Dollar, Rupee, REAL, EURO,YEN आदि। आइए इस ब्लॉग में विस्तार से जानिए कि Bitcoin kya hai

Bitcoin kya hai जानने से पहले जानिए कि बिटकॉइन एक अंग्रेजी शब्द ‘Crypto’ है, जिसका अर्थ होता है गुप्त। क्रिप्टोग्राफी के नियमों के आधार पर बिटकॉइन काम करती है। क्रिप्टोग्राफी का अर्थ होता है कोडिंग भाषा को सुलझाने की कला। बिटकॉइन को बिटकॉइन वॉलेट में सेव करते हैं। इसे हम एक सुरक्षित ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने के लिए उपयोग करतें हैं। ये 0 और 1 सीरीज में आती है। cryptocurrency kya hai

इसे बड़ी-बड़ी कंपनियों ने एक्सचेंज के रूप में अपनाया है जैसे – Microsoft, Tesla आदि। इसको 2008 में सातोशी नाकामोतो ने बनाया था लेकिन 2009 में इसे ओपन स्रोत सॉफ्टवेयर के रूप में लॉन्च किया गया था। इसकी सबसे छोटी यूनिट सातोशी हैं, 1 Bitcoin= 10 करोड़ सातोशी हैं। सातोशी नाकामोतो को बिटकॉइन का फाउंडर कहा जाता है।

बिटकॉइन कैसे प्रोड्यूस होता है?


बिटकॉइन प्रोड्यूस करना इतना आसान नहीं है इसमें काफी मेहनत लगती हैं। ये माइनिंग मेथड से आई एक इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा है जिसके कारण इसकी कीमत बढ़ जाती हैं। माइनर गणितीय और क्रिप्टोग्राफिक समस्याएं को सुलझाते हैं। इस समस्या को सुलझाने पर माइनर को बिटकॉइन ब्लॉक के रूप में रिकॉर्ड करते हैं। माइनिंग प्रोसेस लंबा होता है।बिटकॉइन केवल सिमित संख्या में बनाए जाते हैं, इसलिए इसकी कारण से इसकी मांग बढ़ रही हैं। cryptocurrency kya hai

बिटकॉइन के उपयोग


Bitcoin का उपयोग अलग-अलग ऑनलाइन ट्रांसक्शन्स में किया जाता है। ये P2P नेटवर्क पर काम करता हैं। आजकल ऑनलाइन डेवेलपर्स, NGOs इसका इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांसक्शन्स के लिए करते हैं। ऑनलाइन भुगतान जैसे हम बैंक में ट्रांसक्शन्स करते हैं, हम पता लगा सकते है किसे भुगतान की है। लेकिन बिटकॉइन का रिकॉर्ड पब्लिक लैजर में नहीं होता है। इसे ट्रैक नहीं किया जा सकता जब किसी दो व्यक्तियों के बीच एक्सचेंज किया जा रहा हो। इसका रिकार्ड सिर्फ दो बार ही देखा जा सकता है एक बार जब किसी ने इसे खरीदा हो और दूसरी बार जब कोई इसे बेच रहा हो। cryptocurrency kya hai

Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं?


बिटकॉइन डिजिटल वॉलेट में सेव होती है। इसकी कीमत हर जगह एक नहीं रहती हैं। इसकी कीमत अस्थिर होती है, ये दुनियाभर की गतिविधियों पर निर्भर करती है। क्रिप्टो ट्रेडिंग का कोई तय समय नहीं होता हैं इसकी कीमत में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं।

बिटकॉइन का अपना एक्सचेंज है


बिटकॉइन में ट्रेड करने की शुरूआत 2011 में हुई थी। इसके लिए उपयोगकर्ता को पहले अकाउंट बनाना होता है।ईमेल पुष्टिकरण और खाता वेरिफिकेशन के बाद आपको व्यापार विधि का चुनाव करना होता है। ट्रेडिंग के लिए बिटकॉइन ट्रेडिंग कार्ट है इसमें बिटकॉइन की कीमत के रिकॉर्ड होते हैं।

बिटकॉइन के लाभ

Bitcoin kya hai जानने के साथ-साथ इसके लाभ जानने भी ज़रूरी हैं, जो इस प्रकार हैं:
बिटकॉइन को दुनिया भर में कहीं भी और किसी को भी भेज सकते हैं।
इसका अकाउंट ब्लॉक नहीं किया जाता, जैसे कभी-कभी बैंक अकाउंट ब्लॉक कर दिए जाते हैं।
अंतरराष्ट्रीय लेनदेन में इसका उपयोग कर सकते हैं और इसमें ट्रांजेक्शन फीस लगती हैं।
इसमें मध्यस्थ (मिडलमैन) की भूमिका नहीं रहती है जिससे कम खर्च में लेन देन किया जाता है।
इसे किसी देश में वैधानिक मान्यता नहीं है इसलिए इसका उपयोग बिना किसी अतिरिक्त कीमत से किया जा सकता है।

बिटकॉइन के नुकसान

Bitcoin kya hai जानने के साथ-साथ इसके नुकसान जानने भी ज़रूरी हैं, जो इस प्रकार हैं:

इसका सबसे बड़ा नुकसान यह है अगर आपका डेटा हैक हो जाए और रिकवर ना हो पाए या अगर आप पासवर्ड भूल जाते हैं तो आप अपने सारे Bitcoin गवा देते हैं।
इस पर किसी अथॉरिटी का नियंत्रण नहीं है जिस कारण से इस को अवैध चीजें खरीदने के उपयोग में लाया जा सकता है।


कैसे खरीदें?


बिटकॉइन खरीदने के लिए आप 2 वेबसाइटों का इस्तामल कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि इसे कैसे खरीदें-

Unocoin- इस वेबसाइट पर बिटकॉइन खरीदने के लिए कोई एक्स्ट्रा फीस नहीं लगती है। इसको आप व्यापार ऊनो बिंदु के साथ एकीकृत कर सकते हैं। अगर बिटकॉइन में कोई उतार-चढ़ाव होते तो आपको तुरंत भेज सकते हैं या रख सकते हैं यह कोई भी चार्ज बॉक्स नहीं लेता है। इसे ऑटो सेल भी कर सकते हैं।
Zebpay-आप बिटकॉइन की मदद से DTH बंद अब भी करा सकते हैं इससे Amazon, MMT के वाउचर भी खरीद सकते हैं।

बिटकॉइन वॉलेट क्या है?


Bitcoin को हम सिर्फ इलेक्ट्रानिकली स्टोर करके रख सकते हैं और इसे रखने के लिए बिटकॉइन वॉलेट की जरुरत होती है। यह बहुत से प्रकार के होते हैं जैसे डेस्कटॉप वॉलेट, मोबाइल वॉलेट, ऑनलाइन/वेब-आधारित वॉलेट, हार्डवेयर वॉलेट इन में से एक वॉलेट इस्तेमाल कर हमें इसमें अकाउंट बनाना होता है। ये वॉलेट हमें पते के रूप में अनोखी ID प्रदान करती है जैसे की मान लीजिये आप ने कहीं से Bitcoin कमाया है और उसको आपको अपने अकाउंट में स्टोर करना है तो आपको वहां पर उस पते की जरुरत पड़ेगी और उसी के मदद से आप Bitcoin को अपने वॉलेट में रख सकते हैं।

बिटकॉइन माइनर क्या होता है?


सभी देशों में करेंसी मुद्रा नोट छापने की एक सीमा होती है, ठीक वैसे ही Bitcoin बनाने पर भी परिसीमन (लिमिटेशन) होती हैं। लिमिटेशन यह हैं कि मार्केट में बिटकॉइन 21 मिलियन (2.10 करोड़) से ज्यादा नहीं आ सकते। फ़िलहाल मार्केट में यह 13 मिलियन (1.30 करोड़) के करीब हैं। जो नए बिटकॉइन हैं, वो माइनिंग के जरिए आते हैं।

मान लीजिये कि आपको किसी को Bitcoin भेजना है तो उस भेजने की प्रक्रिया को वेरीफाई करते हैं और वेरीफाई करने वालों को माइनर कहते हैं। जिनके पास उच्च शक्ति कंप्यूटर होते हैं। इन कंप्यूटर से बिटकॉइन ट्रांजेक्शन को वेरीफाई करते हैं।

बजट 2022 में क्रिप्टो टैक्स पर केंद्र सरकार का एलान


यूनियन बजट 2022 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने क्रिप्टो टैक्स का ऐलान किया जिसे अगले वित्त वर्ष में लागू किया जाएगा। क्रिप्टो टैक्स फ्लैट 30 फीसदी होगा और यह 1 अप्रैल से शुरू होने वाले वित्त वर्ष (2022-23) में लागू हो जाएगा।

सुरक्षित है बिटकॉइन में निवेश करना


2013 में RBI ने प्रेस विज्ञप्ति में ने कहा था कि इसकी आधिकारिक अनुमति नहीं होती है, लेकिन इसमें कुछ जोखिम होते हैं। अगर आप अपना पासवर्ड भूल जाते हैं तो आप अपने पैसे हमेशा के लिए खो देंगे। कई बार बिना किसी चेतावनी के बिटकॉइन की कीमत एक ही दिन में 40 से 50 फीसदी तक गिर जाती है। cryptocurrency kya hai

सिया कॉइन (Sia Coin)

सिआकॉइन एक decentralized क्रिप्टोकरेंसी है जो Sia के लिए बनाई गयी है। और इस कॉइन का कोड नाम “SC” है। Sia एक decentralized could storage प्लेटफार्म है। जिसमे लोग अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर का स्टोरेज किराए पर देते है। इसे आसान भाषा में समझते हैं जैसे कि हम लोगों के गैजेट में खाली स्टोरेज होती है। तो यहां अलग अलग लोग अपनी हार्डडिस्क के खाली स्टोरेज को किराए पर देते हैं। और कई लोग अपने पर्सनल डाटा को सुरक्षित रखने के लिए इन स्टोरेज को खरीदकर इसमें अपना डाटा रखते है। Sia कॉइन का इस्तेमाल Sia प्लेटफार्म के ऊपर स्टोरेज को ख़रीदने के लिए किया जाता है।

SIA कॉइन कैसे काम करता है?

यह कॉइन Sai कंपनी के द्वारा बनाया गया है। Sia एक टेक कंपनी है जो लोगों के गैजेट और डिवाइस की स्टोरेज का इस्तेमाल करके दूसरे जरुरतमंद लोगो को वह स्टोरेज किराए पर देती है। इस स्टोरेज को वही लोग किराए पर लेते है जिनको अपना पर्सनल डाटा सुरक्षित रखना होता है।
लाइटकॉइन (Lite Coin)

सिया के काम करने का तरीका थोड़ा अलग है। यह लोगों के डाटा को छोटे-छोटे भागों में बांट देती है। और उन सभी छोटे भागो को एक स्टोरेज में ना रखते हुए अलग-अलग स्टोरेज डिवाइस में रखती है। इससे आपका पूरा डाटा किसी एक व्यक्ति के पास नहीं पहुंचता। बल्कि उसके छोटे-छोटे भाग होकर वह कई सारे लोगों के पास उनके डिवाइस में रख दिया जाता है। और इसके बाद भी सारे डाटा को एक key के साथ लॉक कर दिया जाता है। जिसकी वजह से आपका डाटा कोई और नहीं खोल पाता।

वैसे तो स्टोरेज से संबंधित प्रॉब्लम का सलूशन कई सारी बड़ी-बड़ी कंपनी जैसे कि गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, आदि भी देती है। लेकिन Sia और उन सभी बड़ी कंपनीज में एक अंतर है। और वह अंतर कीमत का है। जहां बड़ी-बड़ी कंपनियां आपसे उनके स्टोरेज को इस्तेमाल करने के लिए $7 से $10 तक लेती है। वही Sia सिर्फ और सिर्फ $1 से $2 लेती हैं।

लाइटकॉइन (Lite Coin)

लाइटकॉइन का अविष्कार वर्ष 2011 में चार्ल्स ली द्वारा किया गया था, यह क्रिप्टोकरेंसी भी बिटकॉइन की तरह ही हैं, जोकि डीसेंट्रलाइज्ड भी हैं और साथ ही पीर टू पीर टेक्नोलॉजी के तहत कार्य करती हैं |

डैश (Dash)

यह दो शब्दों डिजिटल और कैश को मिलकर बनाया गया है | इस क्रिप्टोकरेंसी को बिटकॉइन की तुलना में अधिक विशेषताओं के साथ शुरू किया गया है | अन्य क्रिप्टोकरेंसी की अपेक्षा इसमें सुरक्षा को अधिक महत्व दिया जाता है | इसमें एक विशेष प्रकार की एल्गोरिथम और टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जाता है |

रेड कॉइन (Red Coin)

रेड कॉइन एक ऐसी क्रिप्टो करेंसी हैं, जिसका उपयोग विशेष अवसरों पर लोगों को टिप देने के लिए किया जाता है।

FAQs


Bitcoin में कैसे निवेश करें?


Bitcoin में क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज के जरिए निवेश किया जा सकता है। इसके लिए आपको अपनी डिटेल डालनी होगीं। ईमेल वेरिफिकेशन और खाता सुरक्षा वेरिफिकेशन के बाद आपको देश का नाम सुनना होगा।

बिटकॉइन कैसे बनता है?


बिटकॉइन की सबसे छोटी यूनिट सातोशी है और 1 बिटकॉइन = 10 करोड़ सातोशी होते हैं। जैसे भारतीय मुद्रा के 1 रूपए = 100 पैसे होतें हैं l वैसे ही 10 करोड़ सातोशी से मिलकर एक बिटकॉइन बनता हैl

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?


आसान भाषा में कहें तो क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल कैश सिस्टम है, जो कंप्यूटर एल्गोरिदम पर बनी है। यह सिर्फ अंक के रूप में ऑनलाइन रहती है। इस पर किसी भी देश या सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है।

आपको हिंदी में एक Bitcoin वॉलेट की क्या ज़रूरत है?


लेन–देन Bitcoin वॉलेट के बीच मूल्य का ट्रांसफर है, जो ब्लॉकचेन में शामिल हो जाते हैं। बिटकॉइन वॉलेट गुप्त डेटा रखता है जो निजी चाबी या सीड कहलाता है।

भारत में बिटकॉइन का भविष्य?


2022 में बड़े निवेशकों द्वारा डिज़िटल एसेट को निरंतर अपनाने और फाइनेंशियल सिस्टम में उनका आगे एकीकरण क्रिप्टो स्पेस के विकास के मुख्य चालक साबित होंगे।

बिटकॉइन के मालिक कौन है?


बिटकॉइन के मालिक जापान के सतोषी नाकामोतो हैं।

बिटकॉइन कैसे काम करता है?


बिटकॉइन पीयर टू पीयर नेटवर्क आधार पर काम करता है जिसका मतलब है की लोग एक दुसरे के साथ सीधा ही बिना किसी बैंक, क्रेडिट कार्ड या फिर किसी कंपनी के माध्यम से आसानी से ट्रांजैक्शन सकते हैं।

बिटकॉइन किस देश की करेंसी है?


बिटकॉइन को आमतौर पर किसी एक देश की करेंसी नहीं कहा जा सकता है क्योंकि यह एक डिजिटल करेंसी है और इसे हर कोई व्यक्ति ऑनलाइन खरीद या बेच सकता है या ऑनलाइन इस्तेमाल कर सकता है।

आशा करते हैं कि इस ब्लॉग से आपको CRYPTOCURRENCY kya hai और bitcoin क्या है इसकी जानकारी मिली होगी।

Recent Articles

spot_img

Related Stories

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay on op - Ge the daily news in your inbox